आईए मन की गति से उमड़त-घुमड़ते विचारों के दांव-पेंचों की इस नई दुनिया मे आपका स्वागत है-कृपया टिप्पणी करना ना भुलें-आपकी टिप्पणी से हमारा उत्साह बढता है

बुधवार, 3 नवंबर 2010

जीवन के चढ़ते उतरते ग्राफ

जीवन के चढ़ते उतरते ग्राफ 
जीवन में लक्ष्य निर्धारण और उस लक्ष्य को पाने के लिए किया गया प्रयास मायने रखता है वरना रोजमर्रे की जिंदगी तो सब जी रहे हैं.  चाहे विद्वजन हों, विद्यार्थी हों, साधारण मनुष्य हो सभी चाहते हैं जानना; जो भी कार्य वे कर रहे हैं वह किस स्तर का है ? मसलन विद्योपार्जन में निर्धारित पैमाना होता है लिखित व मौखिक परीक्षा जिसका आंकलन पूछे जाने वाले सवालों के लिए निर्धारित अंक में से कितना प्राप्त करने योग्य है यह विचार  कर किया जाता है .  अंक गणित का महत्त्व जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में है.  तुलनात्मक अध्ययन के लिए तो शत-प्रतिशत. जीवन में आने वाले उतार चढ़ाव के लिए भी.  अब यहीं देख लीजिये; आपका सक्रियता क्रमांक कैसे नंबर वन को छू ले इसी उधेड़बुन में लगे रहते हैं. अच्छी बात है कम से कम स्तरीय लेख-प्रलेख-आलेख (लिख तो दिया किन्तु यदि इनके अलग अलग मायने पूछें जाँय तो नही मालूम, कृपया संक्षिप्त में जानकारी जरूर दीजियेगा), सहित मन में  उपजते तरह तरह के सुविचारों के प्रस्तुतिकरण में निरंतरता बनी रहती है जो पठन पाठन के लिए बहुत उपयोगी है. इन आंकड़ों के अनुसार बनते ग्राफ और मन में उमड़ती प्रतिक्रियाएं कुछ इस तरह बयाँ की जा सकती है

बारहवीं की परीक्षा का
निकल चुका है नतीजा
"प्रथम" आया है अपनी कक्षा में 
अपने प्यारे चाचा का भतीजा 
बंट रही है मिठाई घर में 
अवसर है, खुशियाँ  बांटने का 
अगले पाय दान में अच्छी फेकल्टी 
के साथ कॉलेज छांटने का 
(२)

मिल गया मनचाहा विषय, मनचाहा कॉलेज
बस देते हैं यही समझाइश 
जी भर के मेहनत करो बढ़ाओ अपना नॉलेज
(३)
नए कॉलेज में प्रवेश किये. बीता था एक महीना
 कॉलेज की रेगिंग परिपाटी ने सारा सुख -चैन छीना
"अवसाद" के लक्षण दिखने लगे थे चेहरे पर साफ़ साफ़
चंद दिनों में उतर गया था खुशियों का यह ग्राफ.

यह तो महज एक महाविद्यालय का दृश्य था. ऐसे कई अवसर आते हैं जो पल में खुशी दे जाते हैं  व पल में दुखों का पहाड़ खडा कर देते हैं. यही जीवन चक्र है. दुःख से सामना ना हुआ हो तो सुख की अनुभूति कैसे हो सकती है. 
                आज है धनतेरस : सभी मित्रों को हार्दिक शुभकामनाएं. माँ लक्ष्मी की कृपा से सबके घरों में धन बरसे, सुख समृद्धि वैभव से भर दे. 
जय जोहार...........

6 टिप्‍पणियां:

ललित शर्मा ने कहा…

हौसला बुलंद रहे तो रैगिंग-फ़ैगिंग वाले कहीं नहीं लगते, कौन सा कॉलेज है जरा मुझे बताएं फ़िर हम पहुंच कर सुधारते हैं उनको।

धनतेरस पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं

अशोक बजाज ने कहा…

काबिल ए तारीफ पोस्ट !

धन तेरस की असीम शुभकामनाएं !

'उदय' ने कहा…

... shubh diwaali !!!

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

आज कल रैगिंग काफी हद तक बंद हो गयी है ...

लेकिन फिर भी ऐसे दृश्य कभी कभी मिल जाते हैं ...

दीपावली की शुभकामनायें

राजभाषा हिंदी ने कहा…

बहुत अच्छी प्रस्तुति। राजभाषा हिन्दी के प्रचार-प्रसार में आपका योगदान सराहनीय है!
राजभाषा हिन्दी पर – कविता में बिम्ब!

शिवम् मिश्रा ने कहा…


बेहतरीन पोस्ट लेखन के बधाई !

आशा है कि अपने सार्थक लेखन से,आप इसी तरह, ब्लाग जगत को समृद्ध करेंगे।

आपको और आपके परिवार में सभी को दीपावली की बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनाएं ! !

आपकी पोस्ट की चर्चा ब्लाग4वार्ता पर है-पधारें