आईए मन की गति से उमड़त-घुमड़ते विचारों के दांव-पेंचों की इस नई दुनिया मे आपका स्वागत है-कृपया टिप्पणी करना ना भुलें-आपकी टिप्पणी से हमारा उत्साह बढता है

रविवार, 28 फ़रवरी 2010

घर की सीधी सादी लुगाई. होती सबकी सगी भौजाई

                                                                   रेल बजट 2010
                                                 रेल मंत्राणी "ममता दीदी" सदन में
                                                 कर रहीं थीं रेल बजट वाचन
                                                 मेजें थपथपा रहा था सत्ता पक्ष
                                                 उदर-व्याधि से पीड़ित विपक्ष की
                                                 होने लगी थी कमजोर शक्ति-पाचन
                                                 उगलने लगे थे, यह रेल बजट "आम"
                                                 न होकर बंगाल चुनाव-ए-ख़ास है
                                                 होली से पहले दफ़न हो गई
                                                 बाकी जनता की सारी आस है
                                                 कहते हैं माता कुमाता नहीं होती
                                                 हो सकता है पूत भले कपूत
                                                 पर यहाँ तो उल्टा ही दीखता है,
                                                 छला जाता है छत्तीसगढ़
                                                 होके बड़ा कमाऊ पूत (राजस्व उगाही में)
                                                 वजह है इसकी,
                                                 छत्तीसगढ़ समझा न गया "पूत" कभी
                                                 समझे घर की सीधी सादी लुगाई है
                                                 सीधी सादी लुगाई ही
                                                 होती सबकी सगी भौजाई है.

4 टिप्‍पणियां:

Suman ने कहा…

होली की शुभकामनाए.nice

संजीव तिवारी .. Sanjeeva Tiwari ने कहा…

होली की हार्दिक शुभकामनांए.

निर्मला कपिला ने कहा…

अच्छा व्यंग है होली माफिक।होली की हार्दिक शुभकामनांए

HARI SHARMA ने कहा…

बहुत ही सटीक व्यन्ग है
होली की बहुत बहुत शुभकामनाये
आपको भी और हमारी भौजाई को भी
बच्चो को प्यार.