आईए मन की गति से उमड़त-घुमड़ते विचारों के दांव-पेंचों की इस नई दुनिया मे आपका स्वागत है-कृपया टिप्पणी करना ना भुलें-आपकी टिप्पणी से हमारा उत्साह बढता है

मंगलवार, 25 मई 2010

इहाँ तो पंद्रही होथे सियान

भाई ललित न फ़ोन है न कोई  ब्लॉग में प्रविष्टी 
कहाँ हो गए हैं अंतरध्यान
बोले थे अठ्वाही के बाद मिलेंगे
इहाँ तो पंद्रही होथे सियान 
(पंद्रह दिन हो रहे हैं)
आईसक्रीम ख़तम नई होवत हे का जी? 
जय जोहार........

11 टिप्‍पणियां:

Vivek Rastogi ने कहा…

ऐ लो इधर तो ललित जी के साथ खुशदीप जी भी मीठा खाते पकड़ में आ गये। :)

Udan Tashtari ने कहा…

आ रहे हैं भई ऊ...आईसक्रीम तो ठीक से खाने दो..

ललित शर्मा ने कहा…

dilli ke mela

chhutis jhamela

indha have relam pela

chalt he gadi barobar thela

raat ke perat he bijli,

au din ke pere bijli

bajat he pairy,

chhun chhun, run jhun run jhun

jammo ka munh far ke dekhat he dehati

johar le

honesty project democracy ने कहा…

गुप्ता जी ललित भाई को दो चार दिन तो दिल्ली के ब्लोगरों से मिलने के लिए शांति से छोड़ दीजिये / ललित भाई से मिलकर बहुत अच्छा लगा ,गुप्ता जी आप भी आते तो और भी अच्छा लगता /

सूर्यकान्त गुप्ता ने कहा…

jhaa sahab ko hamara namaskaar. avashya mulakaat ke avsar praapt honge udan tashtari me baithkar avashya aayenge phir aadarniya sameer bhai sahab se milenge.

दिलीप ने कहा…

ha ha ha...sahi hai ice cream le lutf uthaye ja rahe hain...

honesty project democracy ने कहा…

आपका और समीर जी का हार्दिक स्वागत है गुप्ता साहब ,जरूर आइये ये ना चीज आपको हर संभव आदर और सम्मान देने का प्रयास करेगा /

arvind ने कहा…

ha ha ha......,icecream khaane dijiye... aaraam se aayenge.

राजकुमार सोनी ने कहा…

मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है। अपना दोस्त एक सामाजिक सम्मलेन से भाग लेकर कल लौट रहा है। एयरपोर्ट चलना है।

संजीव तिवारी .. Sanjeeva Tiwari ने कहा…

:)

राजीव तनेजा ने कहा…

देखिए...कैसे बेशर्मी से मज़े करते हुए अकेले-अकेले आईसक्रीम चाटे जा रहे हैं?...चटोरे कहीं के... सेहत का तो इन्हें तनिक भी ख्याल नहीं है...पहिले खुद को देखें...फिर इस बित्ते भर की आईसक्रीम को देखें :-) कोई मुकाबला है भला इनके और उसके बीच?