आईए मन की गति से उमड़त-घुमड़ते विचारों के दांव-पेंचों की इस नई दुनिया मे आपका स्वागत है-कृपया टिप्पणी करना ना भुलें-आपकी टिप्पणी से हमारा उत्साह बढता है

शुक्रवार, 21 मई 2010

"जय राम जी की बोलना पड़ेगा"

चल रहा प्रवचन वहां
दिख रहा एक पंडाल 
घर सूना सूना पाके,
खुश होवे चोर चंडाल
                       देखता हूँ बहुत बड़ा पांडाल लगा हुआ है.  प्रख्यात प्रवक्ता, संत शिरोमणि, धारा प्रवाह प्रवचन कर रहे हैं. हजारों, हजारों क्या लाखों  की तादाद में भीड़ इक्कट्ठी हुई है प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से (टी वी के माध्यम से). कभी ज्ञान की बातें कभी वैराग्य की. बीच बीच में कुछ ऐसे उद्धरण भी दिए जा रहे हैं जिससे पंडाल में ठहाके भी सुनाई पड़ते हैं. बीच बीच में कीर्तन भी चलता है. माहौल संगीतमय बन पड़ा है. झूम रहे हैं. वाद्य यंत्रों से निकली सुमधुर ध्वनियाँ झूमने को मजबूर कर रही हैं.  इन सब बातों की कल्पना कर मन में उमड़ रहा है विचार. संतों के मुख से कुछ प्रसंग का जिक्र करने के बाद जनता से बुलवाए जाने वाले कुछ शब्द;
कोई कहे हरि बोल, कोई कहे  राधे राधे.... 
कोई कहलवाए हरिओम तत्सत 
कोई कहे जयराम जी की बोलना पड़ेगा 
होवे मन्त्र मुग्ध श्रोता, रखे इन्हें ये बांधे बांधे
                            सिद्ध संत महात्माओं में कहा जाता है दिव्य चक्षु होता है. उर्जावान होते हैं. जितने लोग पंडाल में बैठकर प्रवचन सुनते हैं वे लोग ऐसे होते हैं जो चाहे भय वश हो या श्रद्धा के कारण,  कह सकते हैं की इनमे थोड़ी समझ है. किन्तु क्या ये अपने प्रभाव से उन हत्यारों का ह्रदय परिवर्तन नहीं कर सकते जो छिपकर अकारण रोज बड़ी संख्या में निहत्थे लोगों की जान ले रहे हैं. केवल यह हिन्दुओं के लिए नहीं है.  कोई भी कार्यक्रम होता है, चाहे वह मंदिर में हो, मस्जिद में हो, गिरजाघर में हो या गुरुद्वारे में. सुनाई पड़ता है बाहर एक जबरदस्त विस्फोट हो गया और बड़ी संख्या में लोग मर गए या घायल हो गए. कहीं ऐसा तो नहीं कि भक्त भजन कीर्तन में तल्लीन होकर यह अनुभव करने लगते हैं की उस परम पिता परमेश्वर से उनका  सीधा कनेक्शन जुड़ गया है. लगता है इसीलिए  ईश्वर भक्तों को  सीधे विमान में बिठाकर स्वर्ग न ले जाने के बजाय ऐसे उत्पाती लोगों के हाथों मरवाकर ले जा रहा है..... 
जय जोहार..........

4 टिप्‍पणियां:

दिलीप ने कहा…

sahi kaha vyarth hi hote hain ye pravachan satsang...jhooth beimaani khoon kharaba sab to waisa hi hai to baith ke achchi baatein karne se kya...

'उदय' ने कहा…

...जय जय श्रीराम !!!

Udan Tashtari ने कहा…

हो सकता है शायद इसीलिये/// जाँच कमेटी बैठाना पड़ेगी..

SANJEEV RANA ने कहा…

जय मर्यदा पुरुषोतम श्री रामचंद्र जी की