आईए मन की गति से उमड़त-घुमड़ते विचारों के दांव-पेंचों की इस नई दुनिया मे आपका स्वागत है-कृपया टिप्पणी करना ना भुलें-आपकी टिप्पणी से हमारा उत्साह बढता है

शुक्रवार, 15 जनवरी 2010

गरहन के प्रभाव का परही ???


आज बहुत अद्भुत सूर्य ग्रहण रहिसे. अब शायद कई बखर  बाद ये  अवसर आवै . 
तौ एखर का परभाव रइही एला थोकिन समझातेव
का कहत हे  "गरहन" 
होइया त नई ये  देश मा कोनो  
बड़े भारी अलहन
झन आवै बिपदा कोनो ऊपर 
कैसे ओ हा टल जही
निकाले बर परही आप सबो ल 
एखर बर हल सही सही 
बड़े बड़े ग्यानी हे, बिग्यानी हे घलो इहाँ 
आना नई चाही बिपदा ल, 
बने रहन दे ओला  जहाँ के तहाँ 
जय जोहार .........










1 टिप्पणी:

ललित शर्मा ने कहा…

अब एखर जवाब दिही ज्ञानी विज्ञानी।
मै का कहावं मुरख मुढ खलकामी।