आईए मन की गति से उमड़त-घुमड़ते विचारों के दांव-पेंचों की इस नई दुनिया मे आपका स्वागत है-कृपया टिप्पणी करना ना भुलें-आपकी टिप्पणी से हमारा उत्साह बढता है

सोमवार, 25 जनवरी 2010

ब्लॉगर मीटिंग संपन्न



हम बुलाये गए थे रायपुर                                                    
दोपहर दो बजे  थी  ब्लॉगर मीटिंग  आज
क्या करें सरकारी महकमा है
आ गया था ऐसा विशेष काज
हम दो बजे नहीं, शाम पांच बजे  आ पाए, 
सब ब्लागरों से भले न हो, कुछ से तो भेंट कर पाए.
खैर, इस बात का हमें खेद है
सॉरी न कहेंगे मांग लेते हैं क्षमा
आस है, अगली मीटिंग में हमारी
नगरी दुर्ग में होंगे सब जमा.
सभी मित्रों को मेरा नमस्कार
शुभ रात्रि, जय जोहार

7 टिप्‍पणियां:

Udan Tashtari ने कहा…

चलिए, कुछ से तो मुलाकात हुई..उसी का किस्सा सुना डालिये.

काजल कुमार Kajal Kumar ने कहा…

कोई बात नहीं. "थोड़ा है पर अच्छा है."
:)

अविनाश वाचस्पति ने कहा…

एक चित्र लगाते तो
हम आंखों को भी
मानस की तरह
खुश कर पाते।

संजीव तिवारी ने कहा…

बढिया रिपोर्टिंग भैया.

ललित शर्मा ने कहा…

बने फ़ोटो लगा के करतेस रपोटिंग
ता थोकिन हमरो होतिस रपोटिंग।:)

श्याम कोरी 'उदय' ने कहा…

... सुन्दर प्रस्तुति !!!

शरद कोकास ने कहा…

यह विचार ज़िन्दा रहे काफी है ।