आईए मन की गति से उमड़त-घुमड़ते विचारों के दांव-पेंचों की इस नई दुनिया मे आपका स्वागत है-कृपया टिप्पणी करना ना भुलें-आपकी टिप्पणी से हमारा उत्साह बढता है

शनिवार, 25 जुलाई 2015

असली बेसुध सोय

असली बेसुध सोय 

घोटाले करते फिरें, भले उजागर होय।
नकली पकड़े जात हैं, असली बेसुध सोय।।