आईए मन की गति से उमड़त-घुमड़ते विचारों के दांव-पेंचों की इस नई दुनिया मे आपका स्वागत है-कृपया टिप्पणी करना ना भुलें-आपकी टिप्पणी से हमारा उत्साह बढता है

शनिवार, 12 जून 2010

लगदा है तुसि, किसे नु न इ लगदे प्यारे।

लटके झटके वाली पोस्ट इक झलक मे भा जाती है
अब जरूरत क्या है, हो गए हैं हम आज़ाद,
बलिदानी शहीदों की जरा भी  याद नहीं आती है 
गवाह है कल की चली हुई हमारी लेखनी 
जिसने याद किया था उस शहीद को, नाम है करतारा (करतार सिंह)
देखा, श्रद्धा सुमन अर्पण हो न पाया किसी का (केवल भाई दिलीप को छोड़ ) 
क्योंकि, करतारा ओए करतारे, लगदा है तुसि, किसे नु न इ लगदे प्यारे।
जय जोहार.......

16 टिप्‍पणियां:

'उदय' ने कहा…

... आप नाराज न हों ... डी.लिट. की आवश्यकता नहीं है ... ब्लाग पर मोडिफ़िकेशन चल रहा है ... नये सिरे से इंट्री होगी ... विलंब के लिये खेद है !!!!

'उदय' ने कहा…

स्वामी बाबा ललितानंद तीर्थ के दर्शन हुये हैं ... टी.व्ही. पर लाइव इंटरव्यू आ रहा था ... वे योग साधना के बल पर युवा हो गये हैं ... लगता है उनकी शरण में साधना सीखने जाना पडेगा ... जय हो !!!

'उदय' ने कहा…

... आप तो स्वयं अंतरयामी हैं ... फ़िर इतने जल्दी डी.लिट. ... लगता है कुछ नाराजगी है ... दर्शन के लिये मुझे आपके पास अविलंब पहुंचना ही पडेगा ...जय हो!!!

'उदय' ने कहा…

... हमें आपकी अदभुत शक्तियों की जानकारी है ... आप सचमुच अंतरयामी हैं ... जय हो !!!

ललित शर्मा ने कहा…

ओ जी बाउजी करतारा
सानु वड्डा प्यारा लगदा है जी।

तुस्सी ऐ कि कैंदे हो?

चंगी पोस्ट लाई हैगी
तुहानु लख लख बधाईयाँ
बाद्च गल करागें तुहाडे नाळ

जय जोहार

ललित शर्मा ने कहा…

फ़ेर डी लिट् होगे का जी?

जब ले आचार्य होय हे
तब ले डी लिट करत हे
कौनो संसो के गोठ नई हे।

जोहार ले

'उदय' ने कहा…

... हम तो इसी चिंता में हैं कि जब ....स्वामी बाबा ललितानंद तीर्थ जी की नजर "आश्रमनुमा" ब्लागों पर पडेगी और उनकी शिष्यमंडली की सूची से भी एक शिष्य का फ़ोटो नदारद मिलेगा ... तब उनका क्रोध ... देख के भाई जी कहीं वो भडक न पडें ...!!!

दिलीप ने कहा…

sirji kartaar singh ek mahaan krantikaari the wo bhagat singh ke adarsh the...aise hi na jaane kitne krantikaari desh ki khaatir mar mite jinke log shayad naam bhi nahi jaante....mahabeer singh, roshanlaal, shiv verma, yashpaal, jatindra nath....aur aise hi asankhy...kitn ko main abhi bhi nahi jaanta...yuvaon ko ye batana zaruri hai....nahi to wo sab bhool jayenge...

'उदय' ने कहा…

...आज इस पोस्ट को हिट करके ही दम लेंगे ...जय हो !!!

'उदय' ने कहा…

...महानुभावों ने करतार सिंह को क्यों याद नहीं किया ... जय हो!!!

'उदय' ने कहा…

... जय जोहार ... लो भाई जी ये पोस्ट ... चिट्ठाजगत में ऊपर चढ गई ... जय हो !!!!

'उदय' ने कहा…

...अब बहुत सारे महानुभाव आयेंगे ... करतार सिंह की पोस्ट देखने-पढने ...जोहार ... जोहार!!!

संजीव तिवारी .. Sanjeeva Tiwari ने कहा…

सिद्ध हो गया पोस्‍ट को उपर चढ़ाने के लिए जुगाड़ तोड़. जय हो.

निर्मला कपिला ने कहा…

उस महान क्राँतिकारी को कौन भूल सकता है अगर आपके ब्लाग पर नही कोई आ पाया या पोस्ट किसी कारणवश नही लिख पाया तो इसका ये मतलव नही कि उसने करतार सिंह को याद नही किया।

ललित शर्मा ने कहा…

पोस्ट उपर चढे चाहे ना चढे
आपका संदेश आंशिक रुप से सब तक पहुंच गया है।

जय जोहार

'उदय' ने कहा…

... जय हो ...जय हो !!!!